Sunday, March 28, 2010

मम्मी मेरी सबसे प्यारी

मम्मी मेरी सबसे प्यारी,
मैं मम्मी की राजदुलारी।

मम्मी प्यार खूब जताती,

अच्छी-अच्छी चीजें लाती।


करती जब मैं खूब धमाल,

तब मम्मी खींचे मेरे कान।

मम्मी से हो जाती गुस्सा,

पहुँच जाती पापा के पास।


पीछे-पीछे तब मम्मी आती,

चाॅकलेट देकर मुझे मनाती।

थपकी देकर लोरी सुनाती,

मम्मी की गोद में मैं सो जाती।


21 comments:

Ashish (Ashu) said...

थपकी देकर लोरी सुनाती,

मम्मी की गोद में मैं सो जाती।..
सच मे मां कि याद आ गयी..
छोटी मगर प्रभावी रचना...

Ghanshyam said...

Bahut pyara bal-geet aur sundar chitra..lambe samay bad Is blog par koi post padhne ko mili.

कृष्ण मुरारी प्रसाद said...

अच्छी प्रस्तुति......
http://laddoospeaks.blogspot.com/

Ghanshyam said...

मन को सुकून देने वाला मनभावन और सहज गीत.

Rashmi Singh said...

लगता है पाखी शरारती हो गई है, मम्मा की बातें जल्दी नहीं सुनती है. बड़ी प्यारी लग रही है मम्मा-बेटी की जोड़ी..यूँ ही प्यार बना रहे.

Rashmi Singh said...

...बाल-गीत तो बड़ा प्यारा है. मैं भी अपने भतीजे को सुनाउंगी .

SR Bharti said...

कानों को बड़े मधुर लगते हैं आपके बाल-गीत. अभी मेरी बेटी इसे गाकर मुझे सुना रही थी और उसकी मम्मी मुस्कुरा रही थीं.

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

बहुत प्यारी सी रचना है, शिशुओं के दिल में सीधी उतर जाने वाली।

KAVITA RAWAT said...

sudar baal rachna....
Bache bhagti daudti jindagi ke beech do pal sukun ka ahsaas kar dete hai.. beti ko bahut pyar....
Aapko bahut shubhkamneyen

RAJNISH PARIHAR said...

बहुत प्यारी सी रचना है!!!अच्छी प्रस्तुति......

Udan Tashtari said...

कान तो खिचेंगे, जब खूब शैतानी करोगी. :)

फिर चॉकलेट भी तो मिलती है!!

M VERMA said...

मम्मी प्यार खूब जताती,
अच्छी-अच्छी चीजें लाती।

मम्मी तो ऐसी ही होती हैं.
बहुत सुन्दर गीत

राज भाटिय़ा said...

हमारी पाखी सब से न्यारी,
लगती है सब को प्यारी.
बहुत सुंदर बिटिया, मां होती ही प्यारी है सब को
बहुत बहुत प्यार पाखी बिटिया को

सतीश सक्सेना said...

शुभकामनयें !

विनय प्रजापति said...

अति सुन्दर

---
अभिनन्दन:
आर्यभटीय और गणित (भाग-2)

pankaj mishra said...

बहुत बढिया। क्या कहने।

अक्षिता (पाखी) said...

मम्मी मेरी सबसे प्यारी...

Ravindra Ravi said...

बहुत ही सुंदर अक्षिता! प्यारी गुडिया आपको बहुत बहुत प्यार.

SR Bharti said...

भाई वाह ,
बहुत अच्छी अभिब्यक्ति
लगता है पाखी बिटिया की शैतानियाँ बढ़ गयीं हैं I

अभिलाषा said...

खूबसूरत प्रस्तुति...आपका ब्लॉग बेहतरीन है..शुभकामनायें.


************************
'सप्तरंगी प्रेम' ब्लॉग पर हम प्रेम की सघन अनुभूतियों को समेटे रचनाओं को प्रस्तुत करने जा रहे हैं. यदि आप भी इसमें भागीदारी चाहते हैं तो अपनी 2 मौलिक रचनाएँ, जीवन वृत्त, फोटोग्राफ hindi.literature@yahoo.com पर मेल कर सकते हैं. रचनाएँ व जीवन वृत्त यूनिकोड फॉण्ट में ही हों.

जयकृष्ण राय तुषार said...

सहज शब्दों में गूंथी गई सुन्दर अभिव्यक्तियाँ...बधाई.