Sunday, April 18, 2010

टमाटर

टमाटर

2 comments:

Jandunia said...

टमाटर में बहुत सुंदर-सुंदर मुक्तक पढ़ने को मिले, धन्यवाद

अभिलाषा said...

Badhiya hai...

_________________

'सप्तरंगी प्रेम' ब्लॉग पर हम प्रेम की सघन अनुभूतियों को समेटे रचनाओं को प्रस्तुत करेंगे.जो रचनाकार इसमें भागीदारी चाहते हैं,वे अपनी 2 मौलिक रचनाएँ, जीवन वृत्त, फोटोग्राफ भेज सकते हैं. रचनाएँ व जीवन वृत्त यूनिकोड फॉण्ट में ही हों. hindi.literature@yahoo.com